Papa ki Pari Attitude Shayari Status and Quotes | परी हो तुम शायरी

Papa ki Pari Attitude Shayari : 

Hello दोस्तों हमारे इस Papa ki pari shayari Status मे आपका स्वागत हैं, हमारे इस पोस्ट मे आपको Papa ki Pari Attitude Shayari और परी हो तुम शायरी देखने को मिलेंगी| 

तो चलिए शूरु करते हैं हमारे इस नए post को,


Papa ki Pari Attitude 

Shayari Status and 

Quotes | परी हो तुम 

शायरी


Best Papa ki pari shayari with images
Best Papa ki pari shayari with images


मुझे शौक नहीं कि मैं किसी के दिल की रानी बनूँ,
मेरे पापा ने मुझे इतना प्यार दिया
कि मुझे खुद में किसी परी होने का एहसास होता है !


प – पलकों में सजे हर ख्व़ाब पूरे हो,
अरमान तुम्हारे कोई न अधूरे हो.
री – रीढ़ बनो तुम परिवार व समाज की,
ऐसा वजूद और नूर हो जीवन की.


हर किसी को अपनी friend list में मत रखा कर,
और सुन पापा की परी जहाँ है वही रह, 
बेवजह आसमान में मत उड़ा कर।”


खुशनसीब है वो बेटियां, जिसके सिर पे पिता का हाथ होता है,
हर मुश्किल आसान लगने लगती है अगर पिता का साथ होता है


आपने मेरी जिंदगी को आसान बना दिया,
आपने मेरी हर मुश्किल को अपना बना लिया,
मेरे पापा ने मेरे हर पल को खुशियों से सजा दिया !


छोटी सी परी शायरी


मुझे छाँव में रखा, खुद जलती रही धूप में, 
एक परी देखा मैंने अपनी माँ के रूप में.


तुम परी हो या हो उससे भी परे,
तुम जो भी हो बस मेरे हो मेरे.
हम तुमसे नहीं तुम्हारी निगाहों से डरे
तुमसे जुदा रह न सके
तो बता ये दिल क्या करे.


हम सब की आँखों में एक चमक सी छाई है, 
एक नन्हीं सी परी मासूमियत भरकर फिर से खिल-खिलाई है. 


जन्नत में रहने वाली परी हो तुम,
मेरी जान, मेरी जिंदगानी हो तुम,
यारों मैं बैठ कर जो सुनते है
मेरी जान वो कहानी हो तुम.


वो थी कोई महकती परी, या जन्नत का फ़रिश्ता था, 
ताउम्र तो नहीं, जिससे सिर्फ कुछ लम्हों का रिश्ता था.

परी हो तुम शायरी


महबूब का घर हो या फरिश्तों की हो ज़मी,
जो छोड़ दिया फिर उसे मुड़ कर नहीं देखा।


फिजाओं में बसी है जैसे ख़ुशबू तेरी, समेट रखा है मैंने ऐसे हर यादों को तेरी, उड़ती हुई नजर आती हो जैसे कोई परी, बस एक तमन्ना बन सके तू सरेआम मेरी.


तुम जलते रहोगे आग की तरह,
और हम खिलते रहेंगे गुलाब की तरह।


चाहत से ज्यादा, जिसे चाहूँगा
मन्नत से ज्यादा जिसे मानूँगा
कौन वो प्यारी परी होगी
जिसके ख़ातिर जीना चाहूँगा.


एक मीठी सी मुस्कान हैं बेटी, 
यह सच है कि मेहमान हैं बेटी, 
उस घर की पहचान बनने चली 
जिस घर से अनजान हैं बेटी. 


Papa ki Pari Attitude Shayari


इश्क़ के सुरूर में खो गये,
तेरे इश्क़ में इस कदर चूर हो गये,
कहते थे ख़्वाबों की परी हो तुम
आज उसी ख़्वाबों से दूर हो गये.


मुझे पापा से ज्यादा शाम अच्छी लगती हैं, 
क्योकि पापा तो सिर्फ खिलौने लाते हैं 
पर शाम तो पापा को लाती हैं


जिस घर मे होती है बेटियां 
रौशनी हरपल रहती है वहां 


उड़ना उन्होंने ही सिखाया है
चाहे कैसे भी हो हालात
हँसते रहना उन्होंने बताया है


कभी काँधे पर कभी हवा में उछाल कर
वह ऊंचाइयां मुझे दिखाते रहे
डगमगाने लगते थे जब भी कदम
वह झुक कर मुझे सँभालते रहे.


हाथ में खंजर ही नहीं आँखों में पानी भी चाहिए,
हमें दुश्मन भी थोड़ा खानदानी चाहिए।

Papa ki pari shayari


तुझको पास बुलाती है,
दिल के सारे गमों को भुलाती है,
ऐ मेरी प्यारी सी परी
जिंदगी तुझमे ही समाती है…


जो भी माँगा , भरपूर मिला
जो कहा नहीं वोह भी दिया
कड़ी धूप में बहा के पसीना,
मेरे सपनो को उन्होंने सींचित किया।


आखिर पापा की परी ने रिप्लाई कर ही दिया कि 
“भाई क्यों तंग कर रहे हो?
मैं भी लड़का ही हूँ !”
साला मेरा तो दुनिया से विश्वास ही उठ गया है....


जन्नत में रहने वाली परी हो तुम,
मेरी जान, मेरी जिंदगानी हो तुम,
यारों मैं बैठ कर जो सुनते है
मेरी जान वो कहानी हो तुम.


बाप और बेटी की जोड़ी सबसे न्यारी,
इनके रिश्ते में है सबसे गहरी यारी,
बाप बेटी की जान है और बेटी बाप की प्यारी !


बेस्ट पापा की परी शायरी 


मासूम तेरे चेहरे पर,
तबस्सुम ये जो चार-चाँद लगाती है,
झुका पलकें जब शर्माती है
जैसे फलक से कोई परी उतर आती है.


फिजाओं में बसी है जैसे ख़ुशबू तेरी,
समेट रखा है मैंने ऐसे हर यादों को तेरी,
उड़ती हुई नजर आती हो जैसे कोई परी,
बस एक तमन्ना बन सके तू सरेआम मेरी.


तुझको पास बुलाती है,
दिल के सारे गमों को भुलाती है,
ऐ मेरी प्यारी सी परी
जिंदगी तुझमे ही समाती है...


इश्क़ के सुरूर में खो गये,
तेरे इश्क़ में इस कदर चूर हो गये,
कहते थे ख़्वाबों की परी हो तुम
आज उसी ख़्वाबों से दूर हो गये....


हर निगाहों को अपनी तरफ खींच रही है, 
नन्ही परी सो कर उठी है और आँखें मींच रही है.

Papa ki Pari Shayari Comedy


तुम संगमरमर का कोई टुकड़ा हो,
या फिर हो तुम हुस्न की परी,
तुम्हे देखते ही तुमसे मोहब्बत हो गई,
कहीं तुमने की ना हो कोई जादूगरी.


वो थी कोई महकती परी,
या जन्नत का फ़रिश्ता था,
ताउम्र तो नहीं,
जिससे सिर्फ कुछ लम्हों का रिश्ता था.


हम कैसे बयाँ करे,
आपकी खूबसूरती-ए-अंदाज को,
बस समझ लीजिये कोई परी उतरी हो
जैसे चाँदनी रात को.


तुम परी हो या हो उससे भी परे,
तुम जो भी हो बस मेरे हो मेरे.
हम तुमसे नहीं तुम्हारी निगाहों से डरे
तुमसे जुदा रह न सके
तो बता ये दिल क्या करे.


चाहत से ज्यादा, जिसे चाहूँगा
मन्नत से ज्यादा जिसे मानूँगा
कौन वो प्यारी परी होगी
जिसके ख़ातिर जीना चाहूँगा.


तो दोस्तों ये था हमरा Papa ki pari shayari Status and Papa ki Pari Attitude Shayari का बेहतरीन shayari collection अगर आपको यह पसंद आता हैं तो इस पोस्ट को जरुर अपने दोस्तों के साथ शेअर करे|